50-50 फॉर्मूले पर भाजपा-शिवसेना में भिड़ंत, फडणवीस ने कहा- मुख्यमंत्री मैं ही बनूंगा

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के बीच लगातार खींचतान चल रही है. अब देवेंद्र फडणवीस ने बयान दिया है कि शिवसेना की मांगों पर मेरिट के आधार पर विचार हो रहा है. हमारे पास कोई प्लान बी या सी नहीं है और ये तय है कि मुख्यमंत्री मैं ही बनूंगा. देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमारे पास 10 निर्दलीय विधायकों का समर्थन है, जल्द ही ये संख्या 15 तक पहुंचेगी.

फडणवीस ने कहा कि बुधवार को विधायक दल की बैठक होगी, जिसमें नेता का चुनाव किया जाएगा. उन्होंने कहा कि शिवसेना पांच साल के लिए मुख्यमंत्री पद चाहती है, लेकिन मांगना और प्रैक्टिकल होना दो अलग बातें हैं. मुख्यमंत्री पद को लेकर कभी कोई 50-50 फॉर्मूला तय नहीं हुआ.

उन्होंने कहा कि शिवसेना की अगर कोई डिमांड है, तो उन्हें हमारे पास आना चाहिए. हम उन मांगों पर मेरिट के आधार पर बात करेंगे.

देवेंद्र फडणवीस का ये बयान तब आया है जब शिवसेना की ओर से लगातार मुख्यमंत्री पद को लेकर 50-50 फॉर्मूला अपनाने का दबाव बनाया जा रहा है. शिवसेना ये भी कह रही है कि हमारे पास महाराष्ट्र में कई विकल्प हैं.

शिवसेना के संजय राउत ने फडणवीस के बयान को गलत बताया है. साथ ही यह भी कहा कि मीडिया के सामने सारी बात हुई थी और हम अपना हक मांगेंगे.

शिवसेना की ओर से लगातार मुख्यमंत्री पद पर बयान दिया जा रहा है. मंगलवार को भी शिवसेना के संजय राउत ने कहा था कि महाराष्ट्र में कोई दुष्यंत नहीं है, जिसके पिता को जेल से बाहर निकाला जाएगा. महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए हमारे पास भी विकल्प हैं.

हालांकि, संजय राउत ने ये भी कहा कि हम उन पार्टियों के साथ नहीं जा सकते हैं जिन्होंने हमारे खिलाफ चुनाव लड़ा.

बता दें कि महाराष्ट्र में आए नतीजों में शिवसेना और भाजपा के गठबंधन को बहुमत मिला है. दोनों पार्टियों को 161 सीटें मिली हैं. इसमें भाजपा को 105, शिवसेना को 56 सीटें मिली हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="69"]