ISRO ने 13 नैनो सैटेलाइट के साथ लॉन्‍च किया Cartosat-3, जानिए इसकी ख़ास बातें

देश की सबसे ताकतवर मिलिट्री सैटेलाइट कार्टोसैट-3 (Cartosat-3) 27 नवंबर को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से बुधवार सुबह लॉन्च किया गया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) अपने पीएसएलवी-एक्सएल वेरिएंट के साथ 14 उपग्रहों को अंतरिक्ष में स्थापित करेगा. इसकी मदद से आतंकी गतिविधियों पर भारतीय सेनाएं नजर रख सकेंगी.

यह सैटलाइट दुनिया के सबसे ताकतवर कैमरों से लैस है। यह जमीन पर 25 सेंटीमीटर की दूरी पर स्थित चीजों को पहचान सकता है और 1 फुट की ऊंचाई वाली चीज को भी पहचान सकता है।

India's PSLV conducts Cartosat-3 launch

Cartosat-3 की खास बातें

Cartosat-3 सैटेलाइट उच्च गुणवत्ता की तस्वीरें लेने की क्षमता से लैस तीसरी पीढ़ी का उन्नत उपग्रह है. यह 509 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित कक्षा में 97.5 डिग्री पर स्थापित होगा.

भारतीय अंतरिक्ष विभाग के न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) के साथ हुए एक समझौते के तहत पीएसएलवी अपने साथ अमेरिका के 13 वाणिज्यिक छोटे सैटेलाइट को भी लेकर जा रहा है.

कार्टोसैट-3 का कैमरा इतना पावरफुल है कि वह अंतरिक्ष से जमीन पर 1 फीट से भी कम (9.84 इंच) की ऊंचाई तक की तस्वीर ले सकेगा. कार्टोसैट-3 का वजन लगभग 1500 किलो है.

पीएम मोदी ने भी दी बधाई
वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने भी कार्टोसैट-3 की लॉन्चिंग पर कहा, ‘मैं इसरो की टीम के एक और बड़े मिशन की सफल लॉन्चिंग पर बधाई देता हूं। इसरो ने एक बार देश को गौरवान्वित किया है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="69"]