जानिए क्यों करना पड़ा था ओपनिंग के लिए सचिन तेंदुलकर को अनुरोध

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि कभी ओपनिंग के लिए भी सचिन को अनुरोध करना पड़ा था। जी हां सचिन ने खुद इस बात की स्वीकार किया है। सचिन तेंदुलकर ने ये बात एक चैट शो में कही है। ये मामला 1994 का है। जब वो न्यूजीलैंड के खिलाफ ओपनिंग करना चाह रहे थे।

उन्होंने बताया है कि उस वक्त खिलाड़ी सेफ गेम खेलते थे, लेकिन मेरी प्लानिंग कुछ अलग थी। वो विकेट बचाना चाहते थे लेकिन मैं कुछ अलग करना चाहता था। वो कहने लगे उस वक्त मैंने ओपनिंग करने के लिए गुजारिश की थी। और ये ही ओपनिंग मेरी करिअर का एक टर्निंग पॉइंट साबित हुई। मैंने उस वक्त ये तक कहा था कि अगर मैं सफल नहीं हो पाऊंगा तो फिर कभी ओपनिंग करने की बात नहीं रखूंगा।

सचिन इसके जरिए लोगों संदेश भी दे रहे हैं। वो ये भी कह रहे हैं कि हमें इस उदाहरण से एक बात समझनी होगी कि हमें जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए रिस्क लेना होगा। आप खुद सोचिए ज्यादा से ज्यादा क्या होगा आप असफल ही तो हो जाएंगे। लेकिन वहीं एक उम्मीद भी तो है सफल होने की। उस वक्त टीम ने मुझ पर भरोसा किया और न्यूजीलैंड के खिलाफ 49 गेंदो पर 82 रन बनाए। ये पहला मैच था जो ऑकलेंड में हुआ था। हां, ये बात जरूर है कि मैंने रिस्क लिया सफल हुआ और उसके बाद कभी ओपनिंग करने के लिए गुजारिश नहीं करनी पड़ी।

आपको बता दें कि सचिन तेंदुलकर को सदी का एक बेहतरीन बल्लेबाज माना जाता है। इन्होंने टेस्ट और वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाएं हैं। हां लेकिन चैट शो में की गईं बातें हमें बताती हैं कि लीक से कुछ अलग हटकर करने से ही सफलता मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="69"]