नुसरत जहां की दुर्गा पूजा पर उलेमा ने जताई नाराजगी, सांसद ने दिया ये जवाब

nusrat jahan

कोलकता के एक पूजा पंडाल में पति निखिल जैन के साथ नुसरत जहां

तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां ने अपने धर्मनिरपेक्ष रवैये से एक बार फिर उलेमाओं को नाराज कर दिया है. इस बार उलेमा उनके दुर्गा पूजा पंडाल जाने और वहां ​पूजा करने से नाराज हैं.

रविवार को बंगाल के एक पूजा पंडाल में अपने पति के साथ सिंदूर लगाकर पहुंचीं नुसरत को लेकर देवबंदी उलेमा ने कहा कि ये इस्लाम में हराम है. वह अल्लाह के अलावा किसी और की इबादत नहीं कर सकतीं. अगर नुसरत को गैर मजहबी काम करने हैं, तो वह अपना नाम बदल सकती हैं. इस तरह के अमल करने से वह इस्लाम और मुसलमानों की तौहीन कर रही हैं.

हालांकि नुसरत जहां ने भी इसका करारा जवाब दिया और कहा कि बंगाल में सभी धर्मों के लोग हर त्योहार को​ मिलजुल कर मनाते हैं. मुझे हमेशा से ही ऐसे उत्सवों का हिस्सा बनना पसंद रहा है. मैं विवादों पर ध्यान नहीं देती और जो करना होता है, वही करती हूं.

दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा है कि आज सिर्फ भारत ही नहीं, दुनिया के कई मुस्लिम देशों में भी रामलीला होती है. हम मानकर चलते हैं कि भारत में जो मुसलमान हैं, उनके पूर्वज हिंदू थे. अगर कोई मुसलमान दुर्गा पूजा पंडाल में जाता है, तो इसमें कुछ गलत नहीं है. वहीं अगर अगर कोई हिंदू रमजान के महीने में इफ़्तार देता है तो इसका मतलब ये नहीं है कि उसने अपना धर्म परिवर्तन कर लिया है.

बता दें कि रविवार को दुर्गाष्टमी के अवसर पर नुसरत माथे पर बिंदी और मांग में सिंदूर लगाकर अपने पति निखिल जैन के साथ कोलकाता के पूजा पंडाल में पहुंचीं थीं. यहां वह ढोल की थाप पर जमकर थिरकीं भी.

हालांकि जब उन्होंने अपनी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कीं तो उन्हें जमकर ट्रोल भी किया गया. इससे पहले भी उन्हें ट्रोल किया गया था जब वह संसद में सिंदूर लगाकर और मंगलसूत्र पहनकर पहुंची थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="69"]