भारत बंद का मिला-जुला असर, सीकर, गंगानगर व चूरू में हड़ताल के कारण परिवहन सेवा गड़बड़ाई

राज्य

Edited By: टाइम्स हिन्दी

Updated on: 1 दिन पूर्व
486642-band

जयपुर। केंद्रीय श्रमिक संगठनों औद्योगिक फेडरेशंस और कर्मचारी महासंघों सहित 10 दस ट्रेड यूनियन्स के संयुक्त आह्वान पर बुधवार को बुलाए गए भारत बंद व हड़ताल का राजस्थान में मिला-जुला असर देखने को मिला। बंद के कारण कई सरकारी प्रतिष्ठान बंद रहे। बंद से बैंकों में काम-काज ठप रहा तथा सड़क परिवहन पर इसका आंशिक असर देखने को मिला।

केंद्रीय संगठनों ने विभिन्न क्षेत्रीय मुख्यालयों और शहीद स्मारक पर प्रदर्शन कर जिला कलेक्ट्रेट में अपना मांग पत्र सौंपा। जयपुर सहित प्रदेश में भारत बंद के दौरान बैंकिंग संगठनों के आह्वान पर हड़ताल रही। हड़ताल का आह्वान सार्वजनिक परिवहन उपक्रमों के निजीकरण सहित 13 सूत्री मांगों के समर्थन में बुलाया गया। राजस्थान में देशव्यापी आम हड़ताल में विभिन्न विभागों के कर्मचारियों का समर्थन मिला।

सीटू से संबद्ध राजस्थान रोडवेज वर्कर्स यूनियन के महासचिव किशन सिंह राठौड़ ने बताया कि हड़ताल में संगठन से जुड़े करीब 3000 रोडवेज कर्मचारी शामिल हुए। इससे सीकर, चूरू, झूंझुनूं व गंगानगर में बसों के नहीं चलने से परिवहन पर असर पड़ा। हालांकि जयपुर में सार्वजनिक परिवहन पर हड़ताल का ज्यादा असर देखने को नहीं मिला। यहां ज्यादातार बाजार खुले रहे।

सबसे लोकप्रिय और देखें